Year 2021

Difficult year at personal level.Rocking year at professional level.Vulnerable year at emotional level.Stable year at financial freedom level.Breakup year at relationship level.Steady year at friendship level..Valuable year at learning level Sincere gratitude to everyone who was part of any of these levels. 🙏

सूरज का कर्त्तव्य

सर्दी में सूरज की गर्मी बड़ी पसंद आती है,वहीं गर्मी में सूरज से घृणा हो जाती है। सूरज तोह बस अपना कर्त्तव्य निभा रहा है।वो तोह हमने अपनी जर्रूरत के हिसाब से,उसको कभी हीरो व कभी विलन बना रखा है। अतः अपने कर्त्तव्य पर ध्यान दें, लोगों के कमैंट्स पर नहीं।

आज का विचार – 07/10/21

त्याग दी सब खहवाइशें निष्काम बनने के लिए |तीन पहरों तक तपा दिन शाम बनने के लिए |घर,नगर,ममता,प्रेम,अपनापन,दुलारराम ने त्यागा सब कुछ राम बनने के लिए |

नाम बना लिया है

ब्लॉग लिखने का फायदा तोह होता है यार। इसके माध्यम से कई पुराने दोस्तों से अब बात भी होने लगी है। बचपन का एक दोस्त है मेरा रोहित, काफी सालों से बात नहीं हुई है हमारी इसलिए आजकल बस फेसबुक फ्रेंड ही हो रखें हैं। ऐसा कुछ मन-मुटाव नहीं है बस, जीवन के रास्ते अलग … Continue reading नाम बना लिया है

टीटीई साहब और तनाव

कल मुंबई से जोधपुर के लिए सूर्यनगरी एक्सप्रेस में बैठा था। कोरोना जैसी आपदा के बीच घर जाने का उत्साह भी था और थोड़ा डर भी। ट्रैन में भी माहौल थोड़ा गंभीर सा था। मेरे लिए सफर बिना किसी के साथ बातचीत हुए थोड़ा मुश्किल सा निकलता है। ट्रैन में फ़ोन का नेटवर्क भी भगवान् … Continue reading टीटीई साहब और तनाव