रोहिनी स्पेशल

मेरे ऑफिस से 50 मीटर की दुरी पर एक बीकानेर स्वीट शॉप है। अक्सर शाम को मैं वहाँ पर चाय ब्रेक के समय जाया करता हूँ। मुझे वहाँ की दाबेली भी बड़ी पसंद है। तोह अभी पिछले ही हफ्ते गया था मैं ऑफिस और एक शाम निकल पड़ा दाबेली खाने। काउंटर से दाबेली का टोकन … Continue reading रोहिनी स्पेशल

आज का विचार – 07/10/21

त्याग दी सब खहवाइशें निष्काम बनने के लिए |तीन पहरों तक तपा दिन शाम बनने के लिए |घर,नगर,ममता,प्रेम,अपनापन,दुलारराम ने त्यागा सब कुछ राम बनने के लिए |

मेरी स्वस्थ त्वचा का राज़

जी हाँ, अपने देश के सभी फ़िल्मी सितारों की तरह, मैं भी अपनी त्वचा को दुरस्त रखने का बहुत ध्यान रखता हूँ। त्वचा का ध्यान रखना न केवल फ़िल्मी जगत तक सीमित है, बल्कि हर मिडिल क्लास परिवार में कोई न कोई सदस्य इसके लिए कई जतन करता रहता है। तभी तोह सदियों से चले … Continue reading मेरी स्वस्थ त्वचा का राज़

आपकी कहानी

कल रात Netflix पर कोटा फैक्ट्री Season २ देखा। मुझे कहानी बड़ी अच्छी लगी उसकी। दरअसल, मुझे अच्छी कहानियाँ देखना व सुनना बहुत पसंद है। वो अलग बात है की, आजकल लोग मिलते नहीं जिनसे कहानियाँ सुनी जाएँ और इतना समय रहता नहीं की कहानियाँ देखी जाएँ। 😅अच्छी कहानियाँ मेरे हिसाब से वो होती हैं- … Continue reading आपकी कहानी

Tribute to मेरे दादा जी

मैं जब 8th क्लास में था, तब हमें एक क्लास प्रोजेक्ट मिला था- Write 10 line about your Idol in lifeमेरे क्लास प्रोजेक्ट की सबसे ज्यादा तारीफ़ हुई थी। मैंने अपने प्रोजेक्ट में मेरे दादा जी पर लिखा था। मुझे विश्वास है की वो प्रोजेक्ट अच्छा मेरे द्वारा लिखी उन 10 lines के लिए नहीं … Continue reading Tribute to मेरे दादा जी

डेटिंग एप्प्स की तीन समस्याएँ

डेटिंग एप्प्स का हल्ला पिछले 2 साल में काफी बढ़ गया है हिंदुस्तान में भी। मेरे कई जानने वाले लोग भी इन डेटिंग एप्प्स पर है जिनसे मैंने कई किस्से सुन रखें है इनको लेकर। अपन ये सब एप्प्स से दूर रहे काफी सालों तक, पर कोरोना काल में बहुत समय मिला तोह आ गए … Continue reading डेटिंग एप्प्स की तीन समस्याएँ

मेरा पहला Thomso

Thomso हमारे कॉलेज आईआईटी रुड़की का कल्चरल फेस्ट का नाम है। सरल भाषा में समझाया जाए तोह आईआईटी रुड़की में 3 दिन चलने वाला एनुअल फंक्शन को Thomso कहते है। Thomso में आनंद और हिस्सा लेने देश भर के कॉलेजों से लोग आते हैं। सच बोलूं तोह सभी लोगों से हमें मतलब रहता भी नहीं … Continue reading मेरा पहला Thomso