Kindness

महाभारत में कहा गया है की दया सबसे बड़ा धर्म है। आज विश्व में जितने भी धर्म हैं वह सब दयालुता का उपदेश देते हैं। अब तोह हर साल 13 नवंबर को विश्व दयालुता दिवस भी मनाया जाता है। दयाभाव को लेकर जब इतना कुछ कहा गया और प्रचार किया जा रहा है, तोह फिर … Continue reading Kindness

Failure

असफलता जीवन का वो पन्ना है जिसे पढ़ते वक़्त हमें सबसे ज्यादा कष्ट होता है। अगर सफलता हमारे जीवन को बेहतर बनाती है तोह वही असफलता हमारे आत्मविश्वास की धज़्ज़िया उड़ाती है। मनोदशा ख़राब होना, खाना बेस्वाद लगना, नींद ना आना आदि असफलता के बाद के आम लक्षण है। असफलता हमें बेचैन करती है, डरपोक … Continue reading Failure

Success

सफलता वो मीठा फल है जो हमारे उद्देश्य के बीज से उगता है। बीज लगाने के बाद इसे मेहनत रूपी पानी और कष्ट की धूप की चाहिए होती है। फिर भाग्य में मिले सही वातवरण और मौसम के अनुसार सफलता का फल आने लगता है। हम सब ने दूसरों की सफलता का स्वाद चख रखा … Continue reading Success

Hard Work

मेहनत वो सिद्धांत है जिसका पाठ हमें बचपन से पढ़ाया जा रहा है। परीक्षा में अव्वल आना हो या करियर की रेस जीतना, बिना परिश्रम के कुछ हासिल नहीं हो सकता। किसी भी सफलता के पीछे मेहनत का योगदान हम सब समझते हैं। पर जैसे ही इंसान असफल हो जाता है तोह उसकी मेहनत को … Continue reading Hard Work

Dreams

सपनों के पीछे का विज्ञान बड़ा दिलचस्प है। ये दिमाग में बैठी जानकारियों और कल्पनाओं के मिश्रण का एक अध्भुत व्यंजन है। सपनों के इस मिश्रण में हमारी ख्वाइशें और उद्देश्य दो मुख्य सामग्री रहती हैं। यह व्यंजन सकारात्मकता की मद्धम आंच पर और भी बेहतरीन पकते हैं। कभी-कभी नकारात्मकता वाले मसाले और बुरी परिस्तिथि … Continue reading Dreams

Purpose

हमारे जीवन का क्या उद्देश्य है? यह सवाल सदियों से चला आ रहा हैं। जीवन के उद्देश्य से जुड़े कई सवालों पर प्राचीन काल से लेकर आधुनिक काल में बहुत कुछ लिखा तथा बोला गया है। कई बार उद्देश्य रहित जीवन होने के कारण हम खुद को भटका हुआ महसूस करने लगते हैं। उद्देश्य का … Continue reading Purpose

Self Awareness

खुद को समझने के प्रयास को आत्म जागरूकता कहा जाता है। हम सब अपने जीवन का अधिकतर हिस्सा दूसरों (अपने और परायों) की जरूरतों, कामों और खुशियों में लगा देते हैं और खुद को प्राथमिकता देने में थोड़ी कम मेहनत करते हैं। आत्म जागरूकता इसी दूसरों vs खुद की प्राथमिकता के बीच संतुलन बनाने का … Continue reading Self Awareness

Friendship

दोस्ती हमारे जीवन में वो आइना जिसमें हम दूसरों की आँखों से अपने आप को पहचानना शुरू करते हैं। तभी तोह हम अक्सर उनके साथ दोस्ती करते हैं जिनकी बातें और सोच हमारे समरूप होती है, क्यूंकि उसमे हमें सुकून और सुख मिलता है। दोस्ती वो रिश्ता है जिसके ऊपर हमारा नियंत्रण रहता है। किससे … Continue reading Friendship

Family

पारम्परिक परिभाषा के अनुसार परिवार समाज की उस इकाई का नाम है जहाँ पर लोगों का सम्बन्ध रक्त से होता है। मेरी समझ में ये सम्बन्ध रक्त से परे होता है। परिवार का ढांचा मूल रूप से समर्थन प्रणाली पर आधारित रहता है। जहाँ पर माता-पिता कमाई तथा घरेलु काम के माध्यम से घर चलाते … Continue reading Family

Love

प्यार मुझे जीवन का सबसे खूबसूरत संकल्पना लगता है। प्यार ही हमें अपने अस्तित्व की ख़ुशी का एहसास कराता है। प्यार सद्धभावना का वो धागा है जो हमें इंसानो से, निर्जीव चीज़ों से, जानवरों से, कुदरत से जोड़ कर रखता है। हम अपने जीवन के अगर सबसे पसंदीदा पलों को याद करें, तोह उनमें भी … Continue reading Love