दोस्ती की कीमत

कॉलेज प्लेसमेंट हुआ था अपना पुणे की एक कंस्ट्रक्शन कंपनी में। सैलरी फिगर इतना बड़ा तोह नहीं था पर उस काम और मेरे जैसे इंसान के हिसाब से पर्यापत था। अपन खुश थे। जब कनवोकेशन सेरेमनी के लिए कॉलेज वापस आये तब बढ़िया सेलिब्रेट किया दोस्तों और जूनियर्स के साथ। बेहतरीन माहौल था। 🥳उन्ही माहौल … Continue reading दोस्ती की कीमत

अगली जीत

सालों पहले एक जीत मिलीउस जीत के लिए संघर्ष भी कियाफिर वो दिन आ गया जबमेहनत और किस्मत ने अपना कमाल दिखा दिया| जीत के बादकाफी शोहरत मिली और नाम हुआनए और काबिल लोगो के साथ मिलना-जुलना शुरू हुआनए रास्ते भी खुले जिससे जीवन में काफी आराम हुआ| इस जीत ने काबिल और समझदार भी … Continue reading अगली जीत